Chanakya Niti : पति-पत्नी को ये करने में बिल्कुल भी शर्म नहीं आनी चाहिए, नहीं तो जीवन भर पछताओगे दोनो !

Chanakya Niti: हम अक्सर सुनते हैं कि शादियां भगवान की कृपा से बनती हैं लेकिन वैवाहिक जीवन को सुखी और शांतिपूर्ण बनाना लोगों का कर्तव्य है।आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में कई ऐसी बातें बताई हैं जो हमारे लिए बहुत जरूरी हैं।हम नियमित रूप से सुनते हैं कि शादियाँ भगवान के माध्यम से बनती हैं लेकिन वैवाहिक जीवन को सुखी और शांतिपूर्ण बनाना मनुष्य का दायित्व है।आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में कई ऐसी बातें बताई हैं जो हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं।इसी तरह पति-पत्नी के बीच रिश्ते में सुख-शांति बनाए रखने के लिए भी चाणक्य ने कुछ खास बातें बताई हैं।

इन नियमों का करे पालन !

Chanakya Niti: आज हम आपको आचार्य के कुछ नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनका पालन करके आप अपने वैवाहिक जीवन को खुशहाल बना सकते हैं।चाणक्य कहते हैं कि जिस तरह पति का कर्तव्य अपनी पत्नी की रक्षा करना होता है, उसी तरह पत्नी का भी कर्तव्य होता है कि वह अपने पति के रहते हुए उसकी सभी इच्छाओं का ध्यान रखे।

संतुष्ट वैवाहिक जीवन के लिए यह जरूरी है।विवाहित अस्तित्व में, पति और पत्नी का एक-दूसरे पर समान अधिकार होता है।इस प्रकार, चाणक्य कहते हैं कि जब पति निराश या दुखी होता है, तो पत्नी का कर्तव्य होता है कि वह उसे प्यार की मदद से खुशी प्रदान करे।पत्नी को अपने पति पर अत्यधिक प्रेम बरसाने की जरूरत है।

PM Saubhagya Yojana 2024: ऑनलाइन आवेदन, हेल्पलाइन नंबर, लाभ, हानि से जुड़ी संपूर्ण जानकारी मिलेगी यहां !

Rashtriya Vayoshri Yojana ऑनलाइन आवेदन, अपना ऑनलाइन स्टेटस चेक करें यहां ! राष्ट्रीय वयोश्री योजना 2024

ये करने में कभी शर्म नहीं आनी चाहिए !

Chanakya Niti: चाणक्य नीति के अनुसार पति-पत्नी को एक-दूसरे के प्रति प्रेम, दृढ़ संकल्प और त्याग प्रदर्शित करने में कभी भी शर्म नहीं करनी चाहिए।यदि कोई व्यक्ति ऐसा नहीं करता है तो उसका कदम दर कदम प्रेमालाप खोखला होता जाता है।

वैवाहिक जीवन की गाड़ी तभी ठीक से आगे बढ़ती है जब पति-पत्नी के बीच सहमति हो।एक ईमानदार पुरुष या महिला कभी भी अपने जीवनसाथी के अलावा कहीं और से रोमांस की चाहत नहीं रखते।इनमें से एक स्थिति में जीवनसाथी का भी दायित्व है कि वह अपने प्यार में कभी कमी न आने दे।

पत्नी को कभी नहीं करना चाहिए ये काम !

Chanakya Niti: चाणक्य कहते हैं कि पत्नी अक्सर कुछ बातें (जैसे अपनी गंभीर बीमारी, अपने परिवार के रहस्य) पति से छिपाकर रखती है।इसके पीछे का मकसद ये है कि महिलाओं को अपने पतियों को परेशान नहीं करना चाहिए.

चाणक्य ने अपनी नीति में कहा है कि कभी भी बाहरी सुंदरता के आधार पर जीवन साथी का चयन नहीं करना चाहिए।एक पुरुष या महिला को हमेशा उसकी विशेषताओं के आधार पर आंका जाना चाहिए क्योंकि एक खूबसूरत महिला अपने पति के साथ-साथ पूरे परिवार के जीवन में खुशियां लाती है।

Leave a Comment